Cooler Cooling Pad : कब करें कूलर की घास चेंज ? आप ऐसी गलती मत करना वरना नही ले पाओगे ठंडी हवा

Cooler Cooling Pad : गर्मी को दूर करने के लिए हम तरह-तरह के तरीके अपनाते हैं। गर्म मौसम में, कूलर एक ऐसी चीज़ है जो कई लोगों के लिए ठंडक प्रदान करता है । कूलर भी तभी आपको ठंडी हवा दे पाएगा जब आप इसकी कुछ चीजों का ध्यान रखेगे. जिनमे से एक है कूलर की घास.

गर्मी का मौसम शुरू हो गया है और गर्मी से जैसे जैसे तापमान बढ़ रहा है अब ठंडी हवा गर्मी से निजात पाने के लिए सहारा बन रही है । अब सुबह से ही धूप निकल आती है और हवा भी गर्म हो रही है. कुछ लोगों के घरों में पंखे ही चलते हैं तो कुछ घर ऐसे भी हैं जहां कूलर चलने लगे हैं. कूलर का इस्तेमाल करने से पहले इन्हें तैयार करना बहुत जरूरी है, नहीं तो ये कमरे को ठीक से ठंडा नहीं कर पाते। सर्दियों के मौसम में इसे एक कोने में रख दिया जाता है या फिर कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो इसे अच्छे से पैक करके रख देते हैं ताकि गर्मियों तक इसमें कोई खराबी ना हो.

हर कोई कूलर से ठंडी हवा लेना चाहता है पर इसके लिए जरुरी है गर्मियों में इसके इस्तेमाल से पहले इसे अच्छी तरह से तैयार कर ले । कूलर की ठंडी हवा में घास का महतवपूर्ण रोल होता है. यदि घास ठीक ना हो तो ठंडी हवा ठीक से नही मिलती, इसलिए जब भी गर्मी के सीजन में पहली बार आप कूलर शुरू कर रहे है तो सबसे पहले यही देखे की इसकी घास के हालत कैसे है.

अगर घास पर धूल पूरी तरह जमा हो जाए तो इसका मतलब है कि हवा का सर्कुलेशन ठीक से नहीं होगा और अगर घास से हवा अच्छे से पार नहीं होगी तो कमरा ठंडा नहीं होगा। कुछ लोग 3-4 साल उसी पुराणी घास को घास चलाते रहते हैं, लेकिन ऐसा नहीं करना चाहिए। कूलर की घास को हर बार मौसम में बदलनी चाहिए ।

मात्र इतने रुपये में मिल जाती है घास

जब आप देखते हैं कि कूलर की घास काली पड़ गयी है और अगर वह धूल से जमी हुई है तो यह संकेत है कि घास को बदल देना चाहिए। कूलर की घास आपको 80 रुपये से लेकर 150 रुपये तक मिल जाती है. हालाँकि, ऐसा हो सकता है कि आपके क्षेत्र में ठंडी घास की कीमत थोड़ी अधिक या कम हो सकती है ।

और खबर पढने के लिए लॉग इन करे वेबसाइट khabarportal